अफगानिस्तान में जॉन केरी के साथ, अफगान राष्ट्रपति हामिद करजई के साथ बातचीत से दोनों राष्ट्रों के बीच एक ठप सुरक्षा समझौते पर ध्यान केंद्रित करने की उम्मीद है।
चर्चा में 2014 के नाटो सेना की वापसी के बाद अमेरिकी सैनिकों की उपस्थिति शामिल हो सकती है।